Motherboard क्या है और Motherboard के प्रकार कोनसे है ?

Motherboard क्या है और Motherboard के प्रकार कोनसे है

आज हम जानेंगे motherboard के बारे में, जिसमें हम समझेंगे कि motherboard क्या है (what is motherboard in Hindi), motherboard के types और component कौन से है और उनके functions क्या होते हैं।

Motherboard computer के अंदर एक बहुत ही important part होता है। जिसके बिना आपका computer अधूरा है। Motherboard में कहीं evolution’s आये है जिसके कारण motherboard के features, size और capabilities में भी काफी बदलाव हुआ है।

आज के इस लेख में हम उन सभी बातो के बारे में और भी विस्तार में जानेंगे। तो चलिए ज्यादा समय ना लेते हुए motherboard के बारे में जानते हैं। जिसमें शुरूआत करते हैं motherboard क्या है (what is motherboard in Hindi) उसकी definition क्या है समझने से।

Motherboard क्या है ? (What Is Motherboard In Hindi ?)

Motherboard computer के अंदर एक Main circuit board है। जिस पर computer के सारे components जैसे कि input-output devices, RAM, hard disk और कहीं internal और external peripherals connect होते हैं।

motherboard उन सभी components को manage करने का और power supply देने का काम करता है। motherboard के कई नाम है, जैसे MB, motherboard, m board, backplane board, base board, planar board, system board और logic board।

Motherboard एक तरह से आपके computer system का foundation होता है। जो आपके computer chassis में लगा होता है।

अगर आपको नहीं पता कि motherboard कैसे दिखता है। तो आपके लिए मैंने motherboard की image नीचे दि है, आप उसे refer कर सकते हैं। नीचे दिया गया motherboard ASUS P5AD2-E motherboard है।

Motherboard and Its Components
Motherboard and Its Components

तो दोस्तों अब हमने जाना कि motherboard क्या है (what is motherboard in Hindi) और motherboard कैसे दीखता है। अब हम motherboard के components और उन components के functions के बारे में जानते हैं।

Components of Motherboard in Hindi

आप motherboard के components को ऊपर दिए गए image में refer कर सकते है।

1. Expansion Slot (PCI, PCI Express, AGP)

Expansion slot एक motherboard का part होता है, जहां पर आप hardware expansion cards connect कर सकते हैं। cards जैसे की video card, modem, sound card etc।

Card जो आप PCI, PCI Express, AGP Slots में लगा सकते हैं :-

  • PCI Slot :- network card, sound card, video card
  • AGP Slot :- video card
  • PCI Express Slot :- modem, sound card, video card, network card

2. 3 Pin Fan Connectors

यह 3 pin fan connector, system fan का connector होता है। जिसका इस्तेमाल आपके computer system को ठंडा रखने के लिए किया जाता है।

3. Back Panel Connector

यहां पर आप अपने input/output device connect कर सकते हैं। जैसे mouse, keyboard, monitor, Ethernet connector etc। यह connector आपके system chassis के पीछे होते हैं।

4. Heat Sink

heat sink का काम वही होता है जो system fan का होता है। heat sink भी system fan की मदद करता है गर्म हुए components को ठंडा रखने में। गर्म components जैसे कि processor।

5. 4 Pin (P4) Power Connector

यह connector basically power connector है। जिसका basic काम है motherboard को power देना जिससे बाकी components को power मिल सके।

6. Inductor

यह एक electromagnetic coil होता है जो power spikes और power से dips को निकालने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह coil एक copper wire से बना होता है जो cylindrical form में होता है।

7. Capacitor

Capacitor मैं जब direct current पास होता है तो capacitor positive और negative charge को manage करने का काम करता है।

अगर कभी motherboard के capacitors fail हो जाते हैं। तो computer boot नहीं होता। उन capacitors को आपको replace करना होता है।

8. CPU Socket

CPU socket में आपका CPU यानि processor लगाया जाता है। CPU socket, processor को motherboard से connect करता है।

9. Northbridge

Northbridge Integrated circuit होता है जो responsible होता है CPU, AGP और memory के बीच में communication करवाने के लिए।

10. Screw Hole

motherboard पर आपको screw hole मिलते हैं। जहां पर आप screw लगाकर motherboard को computer case से जोड़ कर रख सकते हैं।

11. Memory Slot

यह memory slots होते हैं। जिस तरह आप expansion slot में card लगाते थे उसी तरह इन memory slots में आप RAM लगा सकते हैं जो कि एक system memory होती है।

12. Super I/O

Super I/O board यह एक Integrated circuit होता है, जो slow ओर less prominent input/output devices को handle करता है।

13. Floppy Connection

Floppy cable का इस्तेमाल करके floppy disk drive connect करने के लिए floppy connection का इस्तेमाल किया जाता है।

14. ATA Connector (IDE)

ATA connector जिसे IDE भी कहा जाता है। Hard disk और CD Rom Drive को connect करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

15. 24 Pin ATX Power Supply Connector

यह एक power supply connector है, जो की पुराने P8 और P9 AT style connector का replacement है। यह ATX style motherboard को power देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

16. SATA Connector

SATA connector, ATA connector का replacement है। जिसका ATA connector के मुकाबले cable का size कम है और performance ज्यादा है।

17. CMOS Battery (Complementary Metal Oxide Semiconductor)

CMOS battery यह एक on board power battery है। जो information को store रखती है, जिसमें system time और date से लेकर system hardware settings शामिल होती है।

18. RAID (Redundant Array Of Independent Disks)

RAID का इस्तेमाल computer की disk storage को protect और speed up करने में किया जाता है।

19. System Panel Connectors

System panel connectors computer case के बटन जैसे power बटन, restart बटन, LED Lights को control करने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं।

20. FWH (Firmware Hub)

FWH (firmware hub) में system Bios और Integrated video bios store होते हैं।

21. Southbridge

यह एक IC है, जो motherboard पर होती है। जो responsible होती है hard drive controller, input/output controller और Integrated hardware के लिए। Integrated hardware जैसे sound card, video card etc।

22. Serial Port Connector

Serial port connector का इस्तेमाल mouse के लिए होता है। यह उन computers के लिए इस्तेमाल होता है जहां PS/2 और usb ports नहीं होती।

23. USB Headers

अगर आप अपने computer के front में extra USB connections add करना चाहते है। तो USB headers additional USB connections को allow करता है।

24. Jumpers

Jumper computer को electrical circuit बंद करने देता है, जिससे electric circuit board के कुछ specific section में flow हो सके।

25. S/PDIF (Sony And Philips Digital Interconnect Format)

S/PDIF interface audio equipment और home theater system के बिच में digital audio को compressed form में transmit करता है।

26. CD-In (Optical Drive Audio Connector)

CD-IN यह 4 पिन connector है जो optical drive audio को connect करता है।

तो यह थे Motherboard के components और उनके functions। दोस्तों अब तक हमने जाना कि motherboard क्या है और जाना कि motherboard के components कौन से हैं। अब जानते हैं की  Motherboard के functions क्या है।

Functions Of Motherboard In Hindi

  • motherboard कंप्यूटर के रीड के हड्डी के तरह काम करता है। motherboard पर सभी कंप्यूटर के parts को लगाया जाता है। यह motherboard सभी पार्ट्स को एक दूसरे से कम्युनिकेट करने के लिए मदद करता है। Parts जैसे कि RAM, Processor, Hard Disk etc।
  • motherboard एक platform की तरह काम करता है। जिस पर अलग-अलग तरह के expansion slot होते है। जिनका इस्तेमाल करके हम दूसरे devices ओर interface लगा सकते है। जिनमें शामिल है Graphics card, Sound Card etc।
  • motherboard का और एक काम होता है, motherboard उससे जुड़े बाकी components को पावर सप्लाई करने का काम करता है। Processor, Ram जैसे components को पावर motherboard ही पहुंचाता है।
  • motherboard कंप्यूटर से जुड़े सभी components के बीच तालमेल बनाए रखता है। Motherboard के वजह से ही डाटा CPU से मेमोरी तक पहुंचता है।
  • Motherboard में BIOS होता है, जो कंप्यूटर को शुरू करते वक्त और कंप्यूटर के operating system के लोड होते वक्त बड़ा ही काम का होता है। BIOS जोकि motherboard में स्टोर होता है यह कंप्यूटर के Boot Process को मैनेज करता है।

Types Of Motherboard In Hindi

Motherboard जिसे हम system board कहते हैं, उसके दो प्रकार है। जिसमें से पहला है Integrated Motherboard और दूसरा है Non Integrated Motherboard।

Integrated Motherboard

Integrated motherboard में पहले से ही बहुत से components जुड़े होते हैं। जिसमें RAM, Processor, video card, sound card और wifi adapter जैसे components शामिल होते हैं।

Integrated Motherboard को लैपटॉप में ज्यादातर इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि लैपटॉप के Motherboard का size छोटा होता है। तो ज्यादातर components को Motherboard में ही integrate किया जाता है।

Integrated Motherboard में इनपुट आउटपुट devices के ports को भी इंटीग्रेट किया जाता है। जिस वजह से USB Ports, Hard Disk Ports क्वे लिए extra केबल्स की जरूरत नहीं पड़ती और motherboard में जगह बचती है।

Integrated Motherboard का एक नुकसान है, कि आप उसमें Integrated components को बदल नहीं सकते। क्योंकि अगर आप एक बार कोई लैपटॉप ले लेते हैं, तो उसमें से RAM को छोड़ कर आप बाकी components बदल नहीं सकते।

Integrated Motherboard मे कोई भी part खराब हो जाता है, तो आप उसे रिप्लेस नहीं कर सकते। आपको पूरा Motherboard बदलना पड़ता है।

Non Integrated Motherboard

Non Integrated Motherboard में पहले से components Integrated नहीं होते। Non Integrated Motherboard को components install करने की जरूरत होती है।

Non Integrated Motherboard में आप जब चाहे जितना चाहे components को बदल सकते हैं। जो Integrated motherboard में नहीं होता था।

यह Motherboard ज्यादातर Desktop कंप्यूटर में इस्तेमाल किया जाता है। इस Motherboard में आपको parts पहले से ही इंटीग्रेट नहीं मिलते। लेकिन इस Motherboard का फायदा यह है कि अगर आपका कोई भी component खराब होता है।

तो आपको पूरे Motherboard को बदलने की जरूरत नहीं होती। आपको बस उस component को बदलना होता है। और Non Integrated Motherboard में आप अपने मन मुताबिक RAM, Processor और बाकि Components लगा सकते हैं और बदल सकते हैं। साथ ही आप इस Motherboard में wifi adapter को बदल सकते हैं।

Form Factors Of Motherboard In Hindi

  • AT
  • ATX
  • Baby AT
  • BTX
  • DTX
  • LPX
  • Full AT
  • Full ATX
  • Micro ATX
  • NLX

अब तक हमने जान लिया motherboard के types और form factors के बारे में, पर क्या आप motherboard के इतिहास के बारे में जानते है। अगर आप नहीं जानते तो चलिए motherboard के इतिहास पर नजर डालते है।

History Of Motherboard In Hindi

दुनिया का पहला motherboard 1981 में आया, जिसे planar नाम से जाना जाता था। यह motherboard IBM Personal computer मैं इस्तेमाल किया जाता था।

उसके बाद 1984 में AT और Full AT motherboard form factor को IBM के द्वारा अगस्त में शुरू किया गया।

IBM ने Baby AT motherboard form factor को 1985 में शुरू किया था। उसके कुछ ही सालों बाद Western Digital ने 1987 में LPX motherboard form factor को बनाया।

जुलाई 1995 में पहली बार Intel ने ATX specification को motherboard के लिए अपना पहला version निकाला। Intel ने DEC और IBM के साथ मिलकर मार्च 1997 में NLX form factor को बनाया।

अगस्त 1997 में Intel ने पहला AGP सपोर्ट वाला motherboard को मार्केट में लाया। FIC ने यह motherboard नवंबर 1997 मैं मार्केट में लाया था।

Intel ने 1997 को दिसंबर में microATX motherboard और Specification शुरू किया। Intel ने September 1998 को WTX motherboard form factor को शुरू किया था।

उसके बाद 1999 को flexATX motherboard form factor को फिर एक बार Intel ने मार्केट में लाया था। उसके 1 साल बाद 2000 में kontron ने ETX motherboard specification को market मै introduce किया।

इसके बाद 2000 से लेकर आज के समय तक बहुत से motherboard मार्केट में आए। जिनमें pci-express standard, BTX, Nvidia जैसे motherboard शामिल होते गए।

और आज motherboard बनाने वाली कंपनी की लिस्ट इतनी बड़ी हो गई है, कि motherboard किस कंपनी का लेना चाहिए और कौन सा लेना चाहिए इसका चुनाव करना मुश्किल हो गया है।

अगर आप भी इसमें कंफ्यूज है तो चलीये मैं आपको बताता हूं, कि कैसे आप सही motherboard का चुनाव कर सकते हैं।

How To Choose Motherboard in Hindi

Motherboard का सही चुनाव करना इसलिए जरूरी है। ताकि जब आप अपने कंप्यूटर को बनाएंगे तो आपके कंप्यूटर के components motherboard के features के साथ मिलने चाहिए।

क्युकी कहीं बार हम ऐसा motherboard खरीदते है, जिसे हम आगे चल कर upgrade नहीं कर सकते। सही motherboard का चुनाव करने के लिए नीचे दिए गए पॉइंट्स को ध्यान में रखें।

Motherboard का चुनाव करने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि, आपको किस processor को और कौन से टाइप की RAM और कोनसे components इस्तेमाल करने हैं।

Platform : सबसे पहले आपको motherboard का platform चुनना होगा। यह समझने के लिए आपको यह पता होना चाहिए कि आपको कौन सा प्रोसेसर अपने computer में लगाना है। अगर आप अपने कंप्यूटर में Intel का CPU इस्तेमाल करने वाले हैं तो आपका platform Intel रहेगा और अगर आप AMD का CPU इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप का platform AMD होगा।

Socket : उसके बाद दूसरी सबसे जरूरी चीज होती है आपके motherboard का socket। यह आपके CPU के सपोर्ट के लिए जरूरी है। अलग-अलग socket वाले motherboard अलग-अलग जनरेशन के processor और अलग DDR type के RAM को support करते हैं।

मतलब कि कोई socket अगर Intel के Core 2 Duo Processor को सपोर्ट करता होगा। तो आप उसके उपर के processor जैसे I3 प्रोसेसर motherboard पर नहीं लगा सकते। उसी प्रकार अगर आपका motherboard socket सिर्फ DDR2 को सपोर्ट करता होगा। तो आप सिर्फ और सिर्फ DDR2 के RAM को ही उस Motherboard पर लगा सकते हैं।

Upgrade : जब आपको आपके processor और RAM को सपोर्ट करने लायक Motherboard मिल जाए। तो आपको यह भी देखना है कि क्या आप उस motherboard पर आगे चलकर RAM, processor या फिर और एस्ट्रा components को लगा सकते हैं या नहीं।

Extra Components जैसे कि Graphics card, sound card, Extra Hard Disk etc।

Form Factor : अब आपको सबसे जरूरी बात जो की motherboard के Form factor का चुनाव करना है। आपको अपने कंप्यूटर case के size के अनुसार motherboard form factor का चुनाव करना है। क्योंकि अगर आपका कंप्यूटर chassi (case) microATX motherboard को सपोर्ट करता है।

तो आप उस पर AT, ATX motherboard को नहीं लगा सकते। क्योंकि microATX motherboard का साइज छोटा होता है। ऐसे वक्त में या तो आपको आपके motherboard के साइज के हिसाब से कंप्यूटर case खरीदनी होगी या फिर कंप्यूटर case के हिसाब से motherboard खरीदना होगा।

Expansion Slot : अगर आप gaming के शौकीन हैं तो आपको expansion slot वाला motherboard खरीदना चाहिए। ताकि आप उसमें extra components को लगा पाए। वैसे तो आज के सभी motherboards में expansion slot होते ही है।

जैसा कि मैंने कहा कि अगर आप gaming के शौकीन हैं, तो आपको expansion slot वाला motherboard लेना चाहिए। और साथ में यह भी पता रखना चाहिए कि, जो motherboard आप लेने वाले हैं, वह किस graphics card को सपोर्ट करता है।

ज्यादातर समय graphics card processor और RAM के ऊपर डिपेंड होता है। क्योंकि आप अपने कंप्यूटर में प्रोसेसर से ज्यादा पावरफुल GPU को नहीं लगा सकते। इससे आपका graphics card तो performance नहीं देखा साथ ही में Processor GPU को संभाल नहीं पाएगा।

इन बातों को ध्यान में रखकर आप एक सही motherboard का चुनाव कर सकते हैं। आगे हम सबसे ज्यादा famous motherboard manufacturers के बारे में जानते है। 

List Of Motherboard Manufacturer

  • Intel
  • AMD
  • Asus
  • Gigabyte Technology
  • MSI
  • AS Rock
  • ECS (Elite Group Computer System)
  • Acer
  • Zotac
  • Zebronics

Gaming के लिए सबसे ज्यादा AMD, MSI, Asus और gigabyte technology के motherboard famous है। भारत में ज्यादा तर personal computer के लिए zebronics, intel, asus, और acer कंपनी के motherboard इस्तेमाल किये जाते है।

Motherboard का इस्तेमाल कहा किया जाता है ?

आपको बता दू की motherboard का इस्तेमाल computer के अलावा tablet, mobile phone, gaming console और कई ऐसे systems में इस्तेमाल होता है जहां पर processor और CPU का इस्तेमाल किया गया हो।


दोस्तों में आशा करता हूं इस article को पढ़ने के बाद आपके सारे सवालों के जवाब आपको मिल गए होगे और आप समझ गए होगे कि motherboard क्या है? (what is motherboard in hindi), उसके components कौन से हैं और उन components के functions क्या है।

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम अंकुश एकापुरे है. मै पेशे से एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हु. मै महाराष्ट्र का रहने वाला हु. मैंने Snoopy Blogger इस लिए शुरू की ताकि मै भारत के लोगो को इस Blog के माध्यम से जानकारी दे सकू.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here