Domain Name क्या है ? Domain Name को क्यों इस्तेमाल किया जाता है ?

क्या आप जानना चाहते हैं कि domain name क्या है (What is Domain Name in Hindi) ? दोस्तों आज के हमारे लेख में हम domain name के बारे में बात करने जा रहे हैं। आज हम Domain name का मतलब, Types of domain name, Domain Name System और Domain name को कहा से खरीदे इसके बारे में चर्चा करेंगे। 

अगर आप अपना blog या फिर कोई e-commerce का बिजनेस शुरू कर रहे हैं। तो आपको domain name की जरूरत होती है। बिना domain name के आप अपना बिजनेस online नहीं बना पाएंगे। तो चलिए शुरुआत करते हैं समझने से कि domain name क्या होता है। 

Domain Name क्या है ?

Domain name एक शब्द होता है। जिसका इस्तेमाल वेबसाइट को पहचानने में किया जाता है। Domain name वेबसाइट का नाम होता है जिसका इस्तेमाल करके आप किसी भी वेबसाइट को एक्सेस कर पाते हैं। 

Domain Name क्यों इस्तेमाल किया जाता है ?

तो दोस्तों अभी हमने domain name क्या होता है यह तो समझ लिया। मगर क्या आपको पता है वेबसाइट को एक्सेस करने के लिए domain name का इस्तेमाल क्यों किया जाता है।

अगर आपको नहीं पता तो बता दूं हमारी वेबसाइट server पर स्टोर होती है। हर एक server का ip address होता है जिससे आप उस server को एक्सेस कर सकते हैं। अब आप जब भी किसी वेबसाइट को एक्सेस करने जाएंगे तो आपको server ip पता होनी चाहिए। 

चलिए मान कर चलते हैं आपको हमारे वेबसाइट के ip पता है और आप वेबसाइट को एक्सेस कर रहे हैं। मगर तब क्या जब मैं वेबसाइट को किसी दूसरे server पर ट्रांसफर कर देता हूं।

इससे होगा यह कि मेरे server का ip बदल जाएगा। मगर आपको जो ip पता है वह पुराने server की होगी और अब आपको नए server की ip पता नहीं है। तो ऐसे में आप हमारे website को access नहीं कर पाएंगे।

चलिए एक बार मान भी लेते हैं कि आपको दूसरे server की ip भी पता है। मगर में server को साल भर में 10 बार change करूं तो क्या आप इतने ip address को याद रख सकते हैं ?

नहीं आप याद नहीं रख सकते। इसी परेशानी को solve करने के लिए domain name इस्तेमाल किया जाता है।

Domain name आपकी वेबसाइट के लिए एक यूनिक नाम होता है। जो आपके server के ip को पॉइंट करता है। अब होता क्या है कि आपको server ip address को याद रखने की जरूरत नहीं होती आपको बस domain name को याद रखना होता है। 

अब जब भी आप अपनी वेबसाइट का server बदलेंगे तो आपका domain name नए ip को पॉइंट करेगा। जिससे आप domain name का इस्तेमाल करके वेबसाइट को एक्सेस कर सकोगे।

यह बिल्कुल किसी फोन बुक की तरह है जहां पर आप अपने फोन बुक के contacts से किसी का नंबर बदलते हैं मगर नाम नहीं। ताकि आप को उसके नंबर को याद ना रखना पड़े। दोस्तों अब आपने यह तो समझ लिया कि domain name क्यों इस्तेमाल किया जाता है। पर क्या आपको पता है यह system काम कैसे करती है और इसे कंट्रोल कौन करता है ?

हमे server ip से जोड़ने और website पर भेजने का काम DNS करता है। DNS को Domain Name System कहते हैं।

What is Domain Name System in Hindi ?

Domain Name System एक तरह का फोन बुक है आप चाहे तो इसे address book भी कर सकते हैं। DNS में हर वेबसाइट के ip address होते हैं। DNS वेबसाइट और यूजर के बीच में agent की तरह काम करता है। DNS का काम होता है user के enter किये गए domain name को ip address में बदलना। 

DNS ( Domain Name System ) काम कैसे करता है ?

इसे हम एक उदाहरण से समझते हैं। जैसे मैंने कहा कि DNS एक फोनबुक है जिसमें सभी वेबसाइट के ip Address है। अब बात ऐसी है कि कंप्यूटर को हमारी भाषा समझ नहीं आती उसे बस नंबर समझ आते हैं। जैसे ip address। पर हम humans के लिए यह पॉसिबल नहीं कि हम इतने सारे वेबसाइट के ip address को याद रख सके।

और इस कमी को पूरा करने के लिए Domain Name इस्तेमाल होता है। अब DNS करता यह है कि जब भी आप अपने अपने ब्राउज़र में कोई Domain Name Enter करते हैं। तब web ब्राउज़र यह request DNS को भेजता है। 

DNS आप के enter किए गए domain name को अपने database में ढूंढता है और उस domain name के ip address का पता लगाता है। ip address का पता लगने पर DNS Browser को उस ip के बारे में बताता है और Web Browser उस ip को एक्सेस करके आपको आपके वेबसाइट पर पहुंचाता है।

आप ऐसा कह सकते हैं कि DNS domain name को ip address में convert करके आपको वेबसाइट का access दिलाता है।

Types of Domain Name in Hindi

देखा जाए तो domain name के 2 types है। मगर उनमें से एक को और दो भाग में विभाजित किया गया है जिनके बारे में हम आगे पढ़ेंगे। Domain name दो तरह के हैं जिनमें से पहला है Top Level Domain और दूसरा है Sub-domain। तो शुरुआत करते हैं Top Level Domain Name के जानकारी से। 

Top Level Domain Name

जैसा कि मैंने कहा था कि domain name के 2 types है और उनमें से एक को दो भाग में विभाजित किया गया है। वह domain type और कोई नहीं Top Level Domain है। Top Level Domain को दो भाग में विभाजित किया गया है। जिसमें से पहला है generic Top Level Domain (GTLD) और दूसरा है country code Top Level Domain (CCTLD)।

Generic Top Level Domain

Generic Top Level Domain को कोई भी किसी भी जगह से रजिस्टर कर सकता है। Generic Top Level Domain पूरे दुनिया भर में इस्तेमाल किया जाते हैं। Generic Top Level Domain में कुछ domain extension शामिल है जिनके बारे में आप निचे पढ़ सकते हैं। 

  •  .com : यह domain extension सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला domain extension है। यह Domain extension commercial websites को दर्शाने के लिए बनाया गया था। 
  • .net : .com के बाद जो सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला Domain extension है वह है .net। इस domain extension को internet providers या ने ISP (Internet Service Provider) कंपनी के लिए बनाया गया था। लेकिन बाद में उसे .com के alternative ऑप्शन की तरह इस्तेमाल किया जाने लगा। 
  • .org : यह भी एक Top Level Domain है जिसे organizations के लिए बनाया गया था। जैसे स्कूल, non-profit organizations etc. साथी में इसे वह organizations भी इस्तेमाल करते हैं जो non-profitable नहीं है।
  • .info : बाकी Generic Top Level Domain की तरह .info भी एक Generic Top Level Domain है। इस domain extension को Information को दर्शाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

दोस्तों ऐसे और भी Generic Top Level Domain available है। जिनके बारे में आप गूगल पर पढ़ सकते हैं। आज यहां हमने बस उन्ही extension को बताया है जो ज्यादातर इस्तेमाल किए जाते हैं। 

Country Code Top Level Domain

CCTLD यह Country Code Top-Level Domain का short form है। Country Code Top-Level Domain extension हर देश के लिए अलग अलग होता है। Country Code Top-Level Domain extension दो अक्षरों का होता है। 

जैसे .in इंडिया के लिए, .uk united kingdom के लिए। ऐसे ही सभी देशो के लिए Country Code Top-Level Domain extension होते हैं। 

Examples of Country Code Top Level Domain Extension

  • .in
  • .uk
  • .it
  • .cc
  • .nz
  • .us

Country Code Top-Level Domain extension country specific होते हैं। जिस वजह से यह domain international seo के लिए important होते हैं। Country Code Top-Level Domain को इस्तेमाल करने से आप आसानी से सर्च इंजन को आपके वेबसाइट के बारे में जानकारी देते हैं। 

जानकारी जैसे कि आपका blog / वेबसाइट किस country के लिए है, आप किस country के audience को target करना चाहते हैं। मगर Country Code Top-Level Domain extension किसी particular भाषा को target नहीं करता। 

जब भी आप Country Code Top-Level Domain का इस्तेमाल करते हैं। तो गूगल यह समझ लेता है कि आपका content आपके Country Code Top Level Domain extension के area से संबंधित है।

उदाहरण के लिए हमारा domain जो .in domain है। इससे गूगल यह तो समझ ही जाएगा कि हमारा blog specially इंडिया के लिए बनाया गया है। इस वजह से हमारा blog को गूगल ज्यादातर इंडिया के सर्च रिजल्ट में दिखाएगा।

तो यह थे Top Level Domain के types जो ज्यादातर इस्तेमाल किए जाते हैं। अब बढ़ते हैं हमारे दूसरे domain name के type के तरफ जो है sub-domain।

Sub-Domain Name

अगर आप अपने existing site को किसी और भाषा में बनाना चाहते हैं। तो आपको नया domain लेने की जरूरत नहीं होती। आप नया Domain लेने के बजाय Sub-domain का इस्तेमाल कर सकते हैं जिसका example नीचे दिया गया है। 

उदाहरण

Normal Top Level Domain Name : www.xyz.com

Sub-domain name : community.xyz.com

ऊपर दिए गए उदाहरण में हमने community नाम को इस्तेमाल करके 1 sub-domain बनाया है। आप चाहे तो community के जगह अपने मुताबिक कोई भी नाम रख सकते हैं। community.xyz.com जैसे domain name को ही sub-domain कहा जाता है। 

URL क्या है ?

क्या url और Domain same है ? नहीं दोनों अलग है लेकिन फिर भी बहुत से लोग url और domain का अंतर नहीं जानते। वह url को ही domain name समझते हैं। domain name url का भाग होता है। 

Url का long form है Universal Resource Locator।

आप url और domain name का फर्क नीचे दिए गए image से समझ सकते हैं।

Free vs Paid Domain Names

दोस्तों कहीं वेबसाइट builders और companies फ्री domain name प्रोवाइड करती है। तो क्या हमें उन्हें इस्तेमाल करना चाहिए ? इसका जवाब है हां भी और नहीं भी। यह पूरी तरह से आपके इस्तेमाल करने और situation पर depend करता है। 

अगर आप domain किसी college project या फिर non commercial काम के लिए इस्तेमाल करना चाहते हैं। तो आपको फ्री domain के साथ जाना चाहिए। फ्री domain जैसे .tk, .mx. यह आपको आसानी से फ्री में मिल जाएंगे। 

कहीं वेबसाइट और blog platforms जैसे wordpress, blogspot आपको फ्री में sub-domain प्रोवाइड कराते हैं। अगर आप अपने बिजनेस या किसी commercial वेबसाइट के लिए domain इस्तेमाल करना चाहते हैं। तो मैं आपको paid domain जो कि Top Level Domain name है उन्हें इस्तेमाल करने की सलाह दूंगा। 

यह domain name आपको पहले साल के लिए ज्यादा से ज्यादा 300 से 500 rs में मिल जाते हैं। आप अपनी जरूरत के अनुसार ही Domain को खरीदें। और हां फ्री domain name से ज्यादा trustable paid domain name होते हैं जिन्हें गूगल भी मायने देता है। 

paid domain name का मतलब सिर्फ पैसों से खरीदा Domain नहीं है। यहाँ हम Top Level Domains और बाकी domain extension की बात कर रहे हैं। जितने भी Top Level Domain extension होते हैं उन्हें हम यहां paid domain से दर्शा रहे हैं। 

Domain Name कहां से खरीदें ?

दोस्तों अब तक हमने यह तो जान लिया कि Domain name होता क्या है, Domain name के types क्या है, Domain Name क्यों इस्तेमाल किया जाता है। अब हम जानते हैं कि domain name को कहां से खरीदना चाहिए। 

Domain name को खरीदने से पहले आपको domain name का चुनाव करते आना चाहिए। अगर आप अपने बिजनेस के लिए domain name खरीद रहे हैं। तो आपको एक ऐसा domain name खरीदना है जो seo friendly और बिजनेस के लिए सही हो। 

Domain name को आप domain name registrar से खरीद सकते हैं। मार्केट में काफी ऐसे registrar मौजूद थे जो अच्छी सर्विस प्रोवाइड करते हैं। Hostgator, Godaddy, Namecheap, Bluehost यह सब अच्छे domain name registrar है। जहां से आप Top Level Domain name खरीद सकते हैं।


तो दोस्तो यह थी जानकारी domain name के बारे में। आशा करता हूं की इस लेख को पढ़ने के बाद आपके सारे डाउट खत्म हो गए होंगे। अगर domain name के बारे में आपके मन में अभी भी कुछ confusion या फिर सवाल है तो आप मुझे कमेंट के माध्यम से अपना सवाल पूछ सकते हैं। 

दोस्तों कमेंट करके जरूर बताइएगा की आपको “Domain name क्या है और क्यों इस्तेमाल किया जाता है” यह लेख कैसा लगा।

Sharing is caring!

S. Ekapure

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम अंकुश एकापुरे है. मै पेशे से एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हु. मै महाराष्ट्र का रहने वाला हु. मैंने Snoopy Blogger इस लिए शुरू की ताकि मै भारत के लोगो को इस Blog के माध्यम से जानकारी दे सकू.

Leave a Comment