Backlinks क्या है और Quality Backlinks कोनसी होती है ?

दोस्तो, आज के इस article में हम बात करेंगे कि backlinks क्या है और backlinks कितने प्रकार की होती है। अगर आप एक नए blogger है या फिर आपने कुछ दिनों पहले blogging शुरू की है तो हो सकता है कि आप को backlinks  के बारे में पता ना हो।

या फिर यह भी हो सकता है कि आप थोड़ी बहुत जानकारी रखते हो, जबकि backlinks हमारे blog के लिए काफी important role रखती है और कहीं हद तक हमारे blog के ranking को बढ़ाने में backlinks का योगदान होता है।

तो यह जरूरी हो जाता है कि हमें पता हो कि backlinks क्या है, यह कितने तरह की होती है और किस type की backlinks हमे अपने blog के लिए बनानी चाहिए।

साथ ही में हमे quality backlinks क्या होती है यह भी पता होना चाहिए। तो सबसे पहले हम समझते हैं कि backlinks क्या होती है।

Backlinks क्या है? (What Is Backlinks In Hindi?)

Backlinks यह कुछ links होते हैं जो किसी और website से आपके website को point करते हैं। इसे हम एक example से समझते हैं।

सोच कर चलिए आपने एक article लिखा affiliate marketing के ऊपर और उस article में आपने outbound link को याने किसी और website की link दी है।

जैसे समझ कर चलिए कि आपने amazon affiliate website की link दि है। तो यह link amazon website के लिए backlink होगी क्योंकि आपके website ने amazon के website को point किया है।

अगर कोई आपके article से amazon के दिए link पर click करता है तो वह amazon affiliate के website पर चला जाएगा और इन्हीं link को हम backlinks कहते हैं।

अब आप यह तो समझ गए कि backlinks क्या है और backlinks कोण सी links को कहते हैं। तो अब जानते हैं कि यह कितने प्रकार की होती हैं। लेकिन उससे पहले हम कुछ terms पर नजर डालते हैं जिन्हें हर एक ब्लॉगर को जानना चाहिए।

Internal Links

Internal links वह links होती है जो आपके blog के किसी आर्टिकल को या फिर किसी पेज को पॉइंट करती है। जैसे हमारे ब्लॉग hindibloggers.in के किसी आर्टिकल में अगर कोई links है। जो हमारे ही blog के किसी पार्ट को टारगेट करती है तो उसे internal link कहा जाता है।

इसका सबसे अच्छा उदाहरण है menu। Menu में कुछ links होती है जो आपके blog के किसी एक हिस्से से दूसरे हिस्से में जाने में मदद करती है। जिसे हम internal links कह सकते है।

External Link

External links internal link के opposite होती है। यह वह link होती है जो किसी और वेबसाइट या blog को target करती है।

Link Juice

Link juice यह term काफी important है। क्योंकि यह indirectly आपके blog के ranking factor से जुड़ी है। Link juice उसे कहा जाता है। जिस वक्त किसी और वेबसाइट से आपकी वेबसाइट पर या फिर आपके वेबसाइट से किसी और के वेबसाइट पर traffic external links के जरिए आता जाता है।

और यह एक अच्छा seo signal है google के लिए। जिससे आपके ब्लॉग और आर्टिकल के rank बढ़ने की संभावनाएं बढ़ जाती है।

Anchor Text

Anchor text वह text होता है जिसको hyperlink किया गया होता है। मतलब कि वह text जिस पर internal, external links लगी होती है।

Backlinks के प्रकार कौन से हैं?

1. Nofollow Backlink

जैसे कि हमने जाना कि किसी और website से किसी और website पर जो link दी जाती है वह backlink होती है। तो फिर अब यह no-follow backlink क्या होती है?

No-follow backlink वह backlink होती है जिस link पर no-follow tag लगा होता है। Nofollow tag से होता यह है कि, जब भी कोई bot या फिर spider उस website को scan करता है।

जैसे की Google crawler और Spider, तो nofollow tag होने की वजह से यह bots उस link को पूरी तरह से ignore कर देते हैं और उन्हें index नहीं करते।

तो जबकि इन links को google कोई भी मायने नहीं देता है तो यह link हमारे blog के लिए किसी काम की नहीं होती। नाही इनसे हमारे blog के ranking पर कोई भी असर होता है।

यह link ज्यादातर blog comments में मिलती है। आप जब भी किसी website या blog पर comment करते हैं तो हमें वहां nofollow backlink मिलती है।

example :- <a href=”https://www.kaisekya.com” rel=”nofollow”>text</a>

ऊपर दी गए उदाहरण में nofollow link का उदाहरण दिया गया है। Nofollow Link को पहचाने का सबसे आसान रास्ता है पेज के सोर्स कोड में जाकर rel =”nofollow” देखना अगर आपके लिंक के कोड में यह कोड है इसका मतलब की वो लिंक nofollow link है।

2. Dofollow Backlink

Dofollow backlinks वह backlinks होती है जहा nofollow tag नहीं लगा होता। मतलब जब कभी आप किसी website पर link देखते हैं और अगर उस link पर nofollow tag नहीं लगा हो तो समझ जाइए कि वह एक dofollow backlink है।

Dofollow backlinks मिलना आसान नहीं होता क्योंकि यह backlink google bots scan करते हैं और इन्हे ignore नहीं करते। तो इस वजह से यह हमारी blog की rank को बढ़ने में मददगार होती हैं।

यह backlinks आपको ज्यादातर guest posts, directory submission websites, web 2.0 sites और forums से मिलती है।

अब आपने यह तो समझ लिया की backlinks क्या है इनके types कौन से है और कौन सी backlink आपके blog के लिए फायदेमंद होती है।

पर क्या आपको पता है कि low quality और high quality backlinks में क्या फ़र्क़ होता है। अगर नहीं तो हम आगे इसी के बारे में जानेंगे।

example :- <a href=”https://www.snoopyblogger.com”>text</a>

Difference Between Low Quality And High Quality Backlinks

1. Low Quality Backlinks

Low quality backlinks ऐसी backlinks होती है जो आपको किसी ऐसे website से मिली होती है जिसकी domain authority अच्छी नहीं होती।

और वह websites आपके website के niche याने content से related भी नहीं होती। low quality और bad links वह भी होती है जो हमें किसी ऐसे website से मिली होती होती है जहां पर content ना हो, या फिर वह website spammy websites हो जो google के policies को violate करती हो।

Low Quality Backlinks के नुकसान 

Low quality backlinks का आपके blog के लिए सबसे बड़ा नुकसान होता है blog के ranking पर। Low quality backlinks होने से google आपके website को spam website की तरह देखने लगता है।

जिससे की आपके website की ranking पर असर होता है साथ ही में low quality backlinks से आपके website के domain authority पर भी असर होता है।

Low quality backlinks होने से आपके website की domain authority down होने लगती है। इसलिए हमें low quality backlinks से दूर रहना चाहिए।

2. High Quality Backlinks

High quality backlinks वह backlinks होती है जो आपको high domain authority वाले website से मिली होती है। और साथ में अगर वह website आपके blog से related website से याने related content से मिली हो तो वह एक high quality backlink होती है।

High quality backlinks से आपके blog की domain authority बढ़ती है। जो कि आपके blog के लिए और आपके post की ranking के लिए काफी फायदेमंद होती है।

High quality backlinks के वजह से आपके blog को seo boost मिलता है।

Blog के Ranking के लिए Backlinks जरूरी क्यों होती है?

तो दोस्तों अब तक हमने जाना की backlinks क्या है, कितने type की होती है, Low quality और High quality backlinks क्या होती है और यह भी जाना कि यह blog को ranking में मदद करती है।

पर क्या आपको पता है कि यह blog के ranking में कैसे मददगार होती है। तो चलिए जानते हैं कि backlinks कैसे काम करते हैं।

जब कभी आप किसी article को लिखते हैं उसका अच्छा seo करते हैं और उस article की length भी अच्छी होती है। और दूसरी तरफ कोई और blog पर same article publish होता है जो seo optimized और length में भी अच्छा होता है।

तो अब होता क्या है कि google यह तय नहीं कर पाता कि किस article को वह priority ज्यादा दें और किस article को वह search engine में पहले दिखाएं।

वैसे तो google post rank करते समय और भी कही factors को consider करता है। लेकिन जो first factor google देखता है वह होता है उन article और blog के backlinks।

जी हां google article के seo ओर content के बाद जो factor देखता है किसी article को rank करने के लिए, वह होती है उस article और blog की backlinks।

जिस article की backlinks high quality की होगी और ज्यादा होगी उस article को google first priority देता है।

इसमें आपको एक बात ध्यान में रखनी है कि backlinks के quantity ज्यादा होने से ज्यादा जरूरी होती है उसकी quality, क्योंकि एक quality backlink हजार low quality backlinks के बराबर होती है।

तो दोस्तों अब आपने यह तो जान लिया कि backlinks जरूरी क्यों होती है। लेकिन मैं आपको backlink के कुछ और फायदे बताता हूं।

  1. Faster Indexing
  2. Search Ranking में Improvements
  3. Traffic में बढ़ोतरी
  4. Alexa Rank में Improvement

Backlinks कैसे बनाये?

वैसे तो backlink बनाने के कई तरीके हैं। लेकिन उनमें से सबसे ज्यादा असरदार और आसान तरीकों के बारे में अगर आप जानना चाहते हैं तो आप इस आर्टिकल को पढ़ना ना भूले।

Backlinks  बनाने से अच्छा है कि आप backlink को earn करें। क्योंकि बनाए गए backlink से कहीं गुना ज्यादा powerful backlink earn की हुई backlink होती है।

तो फिर इसके लिए आपको क्या करना होगा ? Backlink earn करने के लिए आपको high quality content लिखना होगा जिससे कि बाकी bloggers आपके कंटेंट को link करें और आपको एक high quality backlink मिल सके।

किसी और को backlink कैसे दें?

हम सब backlink बनाते तो है मगर कभी यह नहीं सोचते कि backlink देनी कैसे हैं। Backlink देने के भी कुछ फायदे होते हैं। नहीं तो क्यों कोई आपको backlink देगा।

दोस्तो जब आप कोई आर्टिकल लिखते हैं तो कुछ external links को add करते हैं जो कि backlink होती है आप की तरफ से।

Backlink देने के लिए आपको बस normal link देनी होती है जैसे आप अपने ब्लॉक के internal post की link set करते हैं। अगर आप किसी high quality के आर्टिकल या वेबसाइट को अपने आर्टिकल में link करते हैं। तो इससे आपको आपके आर्टिकल के ranking में मदद होती है।

high quality और authority site को link करने से गूगल यह समझता है कि आपका ब्लॉग पोस्ट एक quality और trusted source है।

क्या आपको Backlink खरीदनी चाहिए ?

जबकि अब आप जानते हैं कि backlinks seo के लिए जरूरी होती है तो आप चाहोगे कि क्यों ना किसी वेबसाइट से कुछ backlinks खरीदी जाए, क्यों ना किसी सॉफ्टवेयर के मदद से हजारों backlinks बनाई जाए।

तो क्या यह बात सही है? क्या हमें backlinks को खरीदना चाहिए ?

जी नहीं हमें कभी भी backlinks को खरीदना या फिर किसी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके खरीदना नहीं चाहिए और इसके 2 वजह हैं।

  1. यह google के policy के खिलाफ है। अगर आप ऐसा करते पकड़े जाते हैं तो आपको गूगल से पेनल्टी मिलेगी और इस वजह से आपका ब्लॉग कभी भी गूगल सर्च में दिखाई नहीं देगा।
  2. जब भी आप links को खरीदेंगे तो आपको यह पता नहीं होगा कि वह links quality links होने वाली है या नहीं।

और यही वजह है कि आपको backlinks खुद बनानी चाहिए ना कि खरीदनी चाहिए।


तो दोस्तों यह थी जानकारी backlinks के बारे में, आशा करता हूं कि आपको यह article पसंद आया होगा और आप समझ गए होगे की backlinks क्या है और quality backlinks कौन सी है और क्यों जरूरी होती है।

Sharing is caring!

S. Ekapure

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम अंकुश एकापुरे है. मै पेशे से एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हु. मै महाराष्ट्र का रहने वाला हु. मैंने Snoopy Blogger इस लिए शुरू की ताकि मै भारत के लोगो को इस Blog के माध्यम से जानकारी दे सकू.

Leave a Comment